श्रद्धांजलि: जिंदादिल इंसान थे अभिनेता कादर खान

श्रद्धांजलि: जिंदादिल इंसान थे अभिनेता कादर खान

पतंजलि में वर्ष 2015 में इलाज कराने आये थे….. हरिद्वार। अपने विशिष्ट अभिनय, संवाद लेखन और फिल्म जगत में अलग-अलग भूमिका निभाने को लेकर देश और दुनिया में अलग ही छाप छोड़ने वाले अभिनेता कादर खान की यादें धर्मनगरी से भी जुड़ी है। कादर खान ने अक्टूबर 2015 में हरिद्वार में योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज की पतंजलि योगपीठ में रहकर अपना इलाज कराया था। हरिद्वार पहुंचने पर कई लोगों ने उनका स्वागत भी किया था। लम्बे समय से अस्वस्थ्य चल रहे कादर खान को स्नायु रोग के चलते इलाज…

पतंजलि में वर्ष 2015 में इलाज कराने आये थे…..

हरिद्वार। अपने विशिष्ट अभिनय, संवाद लेखन और फिल्म जगत में अलग-अलग भूमिका निभाने को लेकर देश और दुनिया में अलग ही छाप छोड़ने वाले अभिनेता कादर खान की यादें धर्मनगरी से भी जुड़ी है। कादर खान ने अक्टूबर 2015 में हरिद्वार में योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज की पतंजलि योगपीठ में रहकर अपना इलाज कराया था। हरिद्वार पहुंचने पर कई लोगों ने उनका स्वागत भी किया था। लम्बे समय से अस्वस्थ्य चल रहे कादर खान को स्नायु रोग के चलते इलाज कराने के लिए हरिद्वार लाया गया था।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर उतरने के बाद सड़क मार्ग से पतंजलि जा रहे कादर खान का समाजसेवी जगदीश लाल पाहवा के साथ ही कांग्रेस नेत्री पूनम भगत समेत कई कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया था। फिर वे पतंजलि योगपीठ में करीब 22 दिन तक इलाज कराया। इस दौरान उन्हें चलने फिरने में काफी दिक्कत थी और वे अल्जाइमर से पीड़ित होने के कारण न बोल पाने और भूलने की बीमारी से परेशान थे। कादर खान एक अच्छे कलाकार के साथ बेहतरीन इंसान थे। जिंदगी के प्रति बड़े जिंदादिल थे। पतंजलि में इलाज के दौरान उनके स्वास्थ्य में काफी सुधार हुआ था, तब उन्हें सलाह दी गई थी कि वे गर्मी के मौसम में आएं तो स्वास्थ्यलाभ होगा। पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने उनके निधन पर दुःख जताते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। -साभारः अमर उजाला’

Advertisement

Latest News