गुरुकुल शांति आश्रम में पांच दिवसीय विशेष प्रशिक्षण शिविर शुरू:

गुरुकुल शांति आश्रम में पांच दिवसीय विशेष प्रशिक्षण शिविर शुरू:

योग शिविर: ‘योगाभ्यास में समर्पण और निरंतरता जरूरी’ लोहरगा (झारखण्ड)। पतंजलि योग समिति, भारत स्वाभिमान न्यास के तत्वाधान में स्थानीय गुरुकुल शांति आश्रम में पाँच दिवसीय विशेष योग शिविर का शुभारम्भ आचार्य शरतचन्द्र आर्य द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। आचार्य शरत चन्द्र आर्य जी ने कहा कि योग का अभ्यास हरेक व्यक्ति को सम्र्पण और निरन्तरता के साथ करना चाहिए, क्योंकि आज के समय में योगाभ्यास, प्राणायाम, आहार-विहार नियंत्रण और संयम के बिना आप स्वास्थ नहीं रह सकते। प्रशिक्षु जनों को जिला के मुख्य योग प्रशिक्षक प्रवीण भारती ने…

योग शिविर: ‘योगाभ्यास में समर्पण और निरंतरता जरूरी’

लोहरगा (झारखण्ड)। पतंजलि योग समिति, भारत स्वाभिमान न्यास के तत्वाधान में स्थानीय गुरुकुल शांति आश्रम में पाँच दिवसीय विशेष योग शिविर का शुभारम्भ आचार्य शरतचन्द्र आर्य द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। आचार्य शरत चन्द्र आर्य जी ने कहा कि योग का अभ्यास हरेक व्यक्ति को सम्र्पण और निरन्तरता के साथ करना चाहिए, क्योंकि आज के समय में योगाभ्यास, प्राणायाम, आहार-विहार नियंत्रण और संयम के बिना आप स्वास्थ नहीं रह सकते।

प्रशिक्षु जनों को जिला के मुख्य योग प्रशिक्षक प्रवीण भारती ने योगाभ्यास कराया और बताया कि भुजंगासन और मर्कटासन कमर की समस्या में अद्भुत लाभकारी है। आज अधिकांश व्यक्ति कमर दर्द की परेशानी से ग्रस्त हैं। हरेक व्यक्ति जो स्वस्थ जीवन जीना चाहता है और बीपी, शुगर, हृदयरोग, कैंसर का शिकार होकर असमय मौत से बचना चाहता है उसे योगभ्यास अवश्य करना चाहिए। योगाभ्यास के क्रम में मन की अवस्था, तनाव प्रबन्धन, उचित आहार विहार, विभिन्न रोगों में जड़ी-बूटी का सेवन के बारे में बताया गया। शिविर के अन्तिम दिन महत्वपूर्ण जड़ी-बूटियों का ज्ञान के साथ-साथ वितरण भी किया जाएगा। मुख्य रूप से आचार्य अर्जुनदेव, पतंजलि योग समिति जिला प्रभारी अभय भारती, युवा प्रभारी अंकित, प्रियंका, स्मृति, शिवराज, नितेश, निर्भय, अजित आदि उपसिथत थे।

Advertisement

Latest News