फर्जी फेसबुक आईडी बनाने वाला गिरफ्तार

फर्जी फेसबुक आईडी बनाने वाला गिरफ्तार

भारत स्वाभिमान द्वारा सभी उत्पादों की गुणवत्ता की जानकारी प्रदान की। नोएडा/हरिद्वार। सेक्टर-20 पुलिस ने पतंजलि के प्रबंध निदेशक पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर अश्लील बात करने और लड़कियों को फंसाने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने आईडी से श्रद्धेय स्वामी जी महाराज पर अपत्तिजनक टिप्पणी की थी। आरोपी की पहचान मोहम्मद जिशान निवासी चिकलाना जिला सहारनपुर के रूप में हुई है। सेक्टर-20 थाना प्रभारी मनीष सक्सेना ने बताया कि आरोपी ने पूज्य आचार्य श्री के नाम और फोटो के साथ…

भारत स्वाभिमान द्वारा सभी उत्पादों की गुणवत्ता की जानकारी प्रदान की।

नोएडा/हरिद्वार। सेक्टर-20 पुलिस ने पतंजलि के प्रबंध निदेशक पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज के नाम से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर अश्लील बात करने और लड़कियों को फंसाने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने आईडी से श्रद्धेय स्वामी जी महाराज पर अपत्तिजनक टिप्पणी की थी। आरोपी की पहचान मोहम्मद जिशान निवासी चिकलाना जिला सहारनपुर के रूप में हुई है।

सेक्टर-20 थाना प्रभारी मनीष सक्सेना ने बताया कि आरोपी ने पूज्य आचार्य श्री के नाम और फोटो के साथ फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाया था। इस फेसबुक अकाउंट से बड़ी संख्या में श्रद्धेय स्वामी जी महाराज और पूज्य आचार्य श्री के अनुयायी जुड़े हुए थे। आरोपी अनुयायियों से चैट कर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करता था। विरोध करने पर अनुयायियों के साथ गाली-गलौज तक करता था। फर्जी आईडी पर पूज्य आचार्य श्री के नाम से धार्मिक टिप्पणी करने से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंच रही थी। इसीलिए 4 जुलाई को सेक्टर-5 स्थित वैदिक ब्राॅडकास्टिंग लिमिटेड के सीईओ प्रमोद जोशी ने सेक्टर-20 में केस दर्ज कराया था। तभी से पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी थी। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर सेक्टर-10 से आरोपी को गिफ्तार कर लिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने यह फेसबुक आईडी लड़कियों को फंसाने के लिए बनाई थी। फर्जी प्रोफाइल बनाकर आरोपी पैसे लेकर लड़कियों को पतंजलि में नौकरी दिलाने के मुताबिक आरोपी नौकरी दिलाने के बदले मिलने वाली रकम अपने खाते में रकम जमा करा लेता था। साथ ही वह पतंजलि के अधिकारियों के साथ संबंध बनाने के बदले में मोटी रकम दिलाने की बात कहता था। आप सबसे अनुरोध है कि आप भी इंटरनेट पर संस्था के खिलाफ कुछ भी षड्यंत्रकारी ताकतों द्वारा अभद्र सामग्री देखते है तो उसे रिपोर्ट करें, उस पर तार्किक टिप्पणी करें, ताकि इन्टरनेट पर दुष्प्रचार व विदेशी कम्पनियों के षड््यंत्र को रोका जा सके। -साभारः अमर उजाला’

Related Posts

Advertisement

Latest News