जड़ी-बूटी दिवस: गुरुआश्रम सुकराला में वन उत्सव का आयोजन

बिलावर। सुकराल नगर में स्थित श्रीगुरु आश्रम में जड़ी-बूटी महोत्सव का आयोजन किया गया। पतंजलि योग समिति की स्थाई इकाई द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में पौधारोपण के अलावा स्थानीय ग्रामीणों में कई प्रकार के औषधीय गुणों वाले पौधों का वितरण भी किया गया। पतंजलि योग समिति के तहसील प्रभारी अंग्रेज सिंह के नेतृत्व में आयोजित इस वन महोत्सव में सबसे पहले गुरु आश्रम में कई प्रकार के पौधे रोपित किए गए। इसके बाद सिंह ने सुकराल व आसपास के ग्रामीणों विशेष तौर पर महिलाओं में कई प्रकार के औषधीय गुणों…

बिलावर। सुकराल नगर में स्थित श्रीगुरु आश्रम में जड़ी-बूटी महोत्सव का आयोजन किया गया। पतंजलि योग समिति की स्थाई इकाई द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में पौधारोपण के अलावा स्थानीय ग्रामीणों में कई प्रकार के औषधीय गुणों वाले पौधों का वितरण भी किया गया। पतंजलि योग समिति के तहसील प्रभारी अंग्रेज सिंह के नेतृत्व में आयोजित इस वन महोत्सव में सबसे पहले गुरु आश्रम में कई प्रकार के पौधे रोपित किए गए। इसके बाद सिंह ने सुकराल व आसपास के ग्रामीणों विशेष तौर पर महिलाओं में कई प्रकार के औषधीय गुणों वाले पौधे बांटे। इस अवसर पर अंग्रेज सिंह ने कहा कि गुरु पूर्णिमा के शुभ अवसर पर अपने-अपने गुरुओं को गुरु दक्षिणा देने के रूप में यह पौधा रोपण किया गया है। ग्रामीणों को हरड़, बेहड़ा, नीम, आंवला, अर्जुन, पीपल, शीशम आदि के पौधे वितरित करते हुए कहा कि इन सभी पौधों में कई प्रकार के औषधिये गुण हैं। इन से कई प्रकार के रोगों से बचने के लिए दवाइयां बनाई जाती हैं। लिहाजा हम सबको अपने आसपास खाली पड़े भूमि पर इन पौधों को लगाना चाहिए। इससे न केवल प्रदूषण से हमें मुक्ति मिलेगी बल्कि हमारे आसपास का वातावरण भी शुद्ध होगा।

 ग्रामीण भाई-बहनों को पौधे वितरित करते हुए बताया कि इन सभी पौधों में कई प्रकार के औषधीय गुण हैं।

Advertisement

Latest News