पतंजलि की स्वदेशी क्रांति से लघु उद्योग को मिली ऊर्जा

पतंजलि की स्वदेशी क्रांति से लघु उद्योग को मिली ऊर्जा

हिमाचल के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी पहुंचे पतंजलि योगपीठ हरिद्वार। हिमाचल के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी के पतंजलि योगपीठ पहुंचने पर योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज और पतंजलि योगपीठ के महामंत्री पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने उनका पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। पतंजलि के विभिन्न परिसरों का भ्रमण कर मुख्यमंत्री ने पतंजलि के राष्ट्रव्यापी व लोक कल्याणकारी कार्यों की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि पतंजलि के प्रयासों से एक ओर देश का किसान समृद्ध हुआ तो वहीं दूसरी ओर युवाओं को रोजगार…

हिमाचल के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी पहुंचे पतंजलि योगपीठ

हरिद्वार। हिमाचल के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी के पतंजलि योगपीठ पहुंचने पर योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज और पतंजलि योगपीठ के महामंत्री पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने उनका पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। पतंजलि के विभिन्न परिसरों का भ्रमण कर मुख्यमंत्री ने पतंजलि के राष्ट्रव्यापी व लोक कल्याणकारी कार्यों की प्रशंसा की।

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि पतंजलि के प्रयासों से एक ओर देश का किसान समृद्ध हुआ तो वहीं दूसरी ओर युवाओं को रोजगार सुलभ हुआ है। पतंजलि की स्वदेशी क्रांति से देश के लघु उद्योग को एक नई ऊर्जा मिली हैं। उन्होंने कहा कि पतंजलि के राष्ट्रव्यापी कार्यों का लाभ आज देश के लगभग सभी राज्यों के नागरिकों को मिल रहा है। उन्होंने श्रद्धेय स्वामी जी महाराज से हिमाचल में पतंजलि योगपीठ की स्थापना के लिए आग्रह किया, ताकि प्रदेश के नागरिकों को भी पतंजलि की सेवाओं का लाभ मिल सके। इस अवसर पर पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने कहा कि वर्तमान समय में किसी भी देश के मजबूती का आंकलन उसकी आर्थिक स्थिति से लगाया जा सकता है। लम्बी गुलामी के कारण केवल शिक्षा क्षेत्र ही नहीं, बल्कि मानसिक और बौद्धिक और आर्थिक स्तर पर भी हम विदेशी ताकतों के अधीन हो गए। -साभारः अमर उजाला

Related Posts

Advertisement

Latest News