योग शिविर: योग के माध्यम से कई बीमारियों को दवा के बगैर किया जा सकता है दूर

ऋषि-महाऋषियों ने तप कर योग को विकसित किया बक्सर (बिहार)। एमपी हाई स्कूल में तीन दिवसीय योग शिविर शुरू हुआ। यह योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज के शिष्या साध्वी देवार्चना, साध्वी देवसुता की देखरेख में चल रहा। शिविर में शामिल योगसाधकों को प्राणायाम, श्वास क्रिया, सूर्य नमस्कार, पादहस्त आसन, कपाल भाती की जानकारी दी गई। इससे होने वाले फायदे के बारे में बताया गया। इस आशय की जानकारी पतंजलि योग समिति की जिला महिला प्रभारी बहन अनिता जी ने दी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक दिन अलग-अलग योग की जानकारी दी…

ऋषि-महाऋषियों ने तप कर योग को विकसित किया

बक्सर (बिहार)। एमपी हाई स्कूल में तीन दिवसीय योग शिविर शुरू हुआ। यह योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज के शिष्या साध्वी देवार्चना, साध्वी देवसुता की देखरेख में चल रहा। शिविर में शामिल योगसाधकों को प्राणायाम, श्वास क्रिया, सूर्य नमस्कार, पादहस्त आसन, कपाल भाती की जानकारी दी गई। इससे होने वाले फायदे के बारे में बताया गया। इस आशय की जानकारी पतंजलि योग समिति की जिला महिला प्रभारी बहन अनिता जी ने दी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक दिन अलग-अलग योग की जानकारी दी जाएगी, योग आसन को आसान तरीकों से सिखाया जा रहा है। ताकि शिविर समाप्त होने बाद इसमें प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले अपने घर में आसानी से कर सके। वहीं साध्वी देवार्चना ने प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित लोगों को बताया कि ऋषि-महाऋषियों ने तप कर योग को विकसित किया था। इसके माध्यम से वह अपने आप को निरोग रखते थे। योग आसान विधि है। इसे हर कोई आसानी से कर सकता हैं इसमें बस कुछ विधाओं पर ध्यान देने की जरूरत होती है। इससे हर कोई अपने आप को स्वस्थ्य रख सकता है। डाॅक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

Advertisement

Latest News