गंगा की सफाई करने को उतरी धार्मिक संस्थाएं

गंगा की सफाई करने को उतरी धार्मिक संस्थाएं

स्वच्छ गंगा, अविरल गंगा: गंगा में कचरा नहीं डालने का लें संकल्प हरिद्वार। पतंजलि योगपीठ के स्वयं-सेवकों भाई-बहनों ने प्रातःकाल योगपीठ के महामंत्री पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी के नेतृत्व में गंगा सफाई चलाया। इस दौरान पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने कहा कि हम सभी को यह संकल्प लेना चाहिए कि गंगा में हम कचरा नहीं डालेंगे तो गंगा पूरी तरह कचरा मुक्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में माँ गंगा की विशिष्ट धार्मिक एवं आध्यात्मिक मान्यता है। यह हमारी पुरातन संस्कृति और परम्पराओं की प्रतीक है। पूज्य…

स्वच्छ गंगा, अविरल गंगा: गंगा में कचरा नहीं डालने का लें संकल्प

हरिद्वार। पतंजलि योगपीठ के स्वयं-सेवकों भाई-बहनों ने प्रातःकाल योगपीठ के महामंत्री पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी के नेतृत्व में गंगा सफाई चलाया। इस दौरान पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज ने कहा कि हम सभी को यह संकल्प लेना चाहिए कि गंगा में हम कचरा नहीं डालेंगे तो गंगा पूरी तरह कचरा मुक्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में माँ गंगा की विशिष्ट धार्मिक एवं आध्यात्मिक मान्यता है। यह हमारी पुरातन संस्कृति और परम्पराओं की प्रतीक है। पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी ने कहा कि गंगा मंे बढ़ रही गंदगी के जिम्मेदारी सभी घरेलू एवं औद्योगिक सिवरेज सिस्टम, धार्मिक भावनाओं के तहत गंगा में प्रवाहित पूजन सामग्री, कपड़े आदि पर रोक लगनी चाहिए। गंगा को प्रदूषण मुक्त रखना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। पूज्य आचार्य जी ने कहा कि गंगा रक्षा मंच के संयोजक योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज ने गंगा स्वच्छता को लेकर अत्यंत गम्भीर रहे हैं। पतंजलि योगपीठ ने समय-समय पर गंगा की अविरलता एवं निर्मलता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहरायी है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक कार्य के लिए प्रशासन पर निर्भर रहना उचित नहीं है। हमें अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा। पंतद्वीप पार्किंग के समीप गंगा सफाई अभियान में पतंजलि विश्वविद्यालय के लगभग 50 छात्र शामिल हुए। (ब्यूरो) -साभारः जागरण’

Advertisement

Latest News