स्वदेशी परिधानः दीवाली से पतंजलि शुरू करेंगी कपड़ों की बिक्री

स्वदेशी परिधानः दीवाली से पतंजलि शुरू करेंगी कपड़ों की बिक्री

डेयरी के बाद पतंजलि अब जींस समेत टेक्सटाइल क्षेत्र में भी रखेंगी कदम हरिद्वार। डेयरी उद्योग के बाद अब श्रद्धेय स्वामी जी महाराज टेक्सटाइल क्षेत्र में किड््स और एडल्ट वियर्स की बड़ी रेंज बाजार में उतारने जा रहे हैं। इसी साल दिवाली में ‘परिधान’ ब्रांड से कपड़ों की बड़ी रेंज पतंजलि के वर्तमान स्टोर्स पर उपलब्ध हो जाएंगी, जबकि बाजार में 250 पतंजलि परिधान स्टोर्स पर कपड़ों के 3,000 आइटम बिक्री के लिए एक अप्रैल से उपलब्ध हो जाएंगे। परिधान के कपड़ों में सबसे पहले डेनिम और जींस बाजार में…

डेयरी के बाद पतंजलि अब जींस समेत टेक्सटाइल क्षेत्र में भी रखेंगी कदम

हरिद्वार। डेयरी उद्योग के बाद अब श्रद्धेय स्वामी जी महाराज टेक्सटाइल क्षेत्र में किड््स और एडल्ट वियर्स की बड़ी रेंज बाजार में उतारने जा रहे हैं। इसी साल दिवाली में ‘परिधान’ ब्रांड से कपड़ों की बड़ी रेंज पतंजलि के वर्तमान स्टोर्स पर उपलब्ध हो जाएंगी, जबकि बाजार में 250 पतंजलि परिधान स्टोर्स पर कपड़ों के 3,000 आइटम बिक्री के लिए एक अप्रैल से उपलब्ध हो जाएंगे।

परिधान के कपड़ों में सबसे पहले डेनिम और जींस बाजार में आएगी। हाथ से बुने कपड़ों की एक बड़ी रेंज भी उतारी जाएगी। ये कपड़े परिधान नाम से खोले जाने वाले स्टोर्स पर मिलेंगे। अप्रैल तक देशभर में 250 स्टोर्स की श्रृंखला शुरू हो जाएगी। बाद में और विस्तार किया जाएगा। अप्रैल से ही बिग बाजार और रिटेल आउटलेट्स पर भी परिधान के वस्त्र बिकने लगेंगे। इसके अलावा, खादी भवन में कई प्रकार के वस्त्र, परिधान ब्रांड के नाम से उपलब्ध होंगे। ये वस्त्र खादी से तैयार किए जाएंगे। श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने पहले साल 5,000 करोड़ रुपये के कपड़ों की बिक्री का लक्ष्य निर्धारित किया है। अगले वर्ष यह लक्ष्य 10,000 करोड़ रुपये का हो जाएगा। आॅनलाइन बिक्री के लिए फेसबुक और गूगल के साथ हाल ही में करार किया गया है। इससे पहले अमेजन और फ्लिपकार्ट कंपनियाँ पतंजलि का सामान बेच रही हैं।

Advertisement

Latest News