प्रेस वार्ता: गुरुग्राम और फरीदाबाद के बीच 1000 एकड़ में नालंदा जैसा विष्वविद्यालय बनाएंगे श्रद्धेय स्वामी जी महाराज

प्रेस वार्ता: गुरुग्राम और फरीदाबाद के बीच 1000 एकड़ में नालंदा जैसा विष्वविद्यालय बनाएंगे श्रद्धेय स्वामी जी महाराज

योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज गुरुग्राम और फरीदाबाद के बीच एक हजार एकड़ की भूमि में नालंदा जैसा विश्वविद्यालय बनाने वाले है। इसके लिए उन्होंने एक हजार एकड़ की जमीन भी चिह्नित कर ली है। श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने घोषणा करते हुए कहा अगले दस वर्ष के भीतर नालंदा तथा तक्षशिला जैसे विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी और वहां दुनियाभर के छात्र सर्वोत्तम शिक्षा के लिए आयेंगे। राज्य में पहली बार आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कृषि एवं खाद्य शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन यहां पहुंचे योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज…

योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज गुरुग्राम और फरीदाबाद के बीच एक हजार एकड़ की भूमि में नालंदा जैसा विश्वविद्यालय बनाने वाले है। इसके लिए उन्होंने एक हजार एकड़ की जमीन भी चिह्नित कर ली है।

श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने घोषणा करते हुए कहा अगले दस वर्ष के भीतर नालंदा तथा तक्षशिला जैसे विश्वस्तरीय विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी और वहां दुनियाभर के छात्र सर्वोत्तम शिक्षा के लिए आयेंगे। राज्य में पहली बार आयोजित अंतर्राष्ट्रीय कृषि एवं खाद्य शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन यहां पहुंचे योगर्षि स्वामी रामदेव जी महाराज ने एक पत्रकार सम्मेलन सम्मेलन में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय का ऐसा स्वरूप बनाने की उनकी परिकल्पना है जिससे यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ शिक्षण संस्थाओं में शामिल हो। श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने कहा कि वह झारखण्ड में पहली कक्षा से बारहवीं तक के बच्चों को उत्तम भारतीय शिक्षा देने के लिए शीघ्र आचार्यकुलम् की स्थापना करेंगे जिसमें तीन हजार बच्चे शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे।

Advertisement

Latest News