23 मार्च: शहीद भगत सिंह के सपनों का भारत बने

23 मार्च: शहीद भगत सिंह के सपनों का भारत बने शहीद दिवस पर जिले में हुई कई कार्यक्रम । सीतापुर (उत्तर प्रदेश)। 23 मार्च शहीद दिवस के अवसर पर पतंजलि योग समिति, भारत स्वाभिमान, युवा-भारत, महिला पतंजलि योग समिति एव ंपतंजलि किसान सेवा समिति संगठनों द्वारा कार्यक्रम किए गये। जिसके जरिए वक्ताओं ने इस दिवस की महत्ता पर प्रकाश डाला। आजाद हिंद भगत संगठन द्वारा शहर के भगत सिंह पार्क में शहीद भगत सिंह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन नमन किया। इस मौके पर नगर अध्यक्ष अमन…

23 मार्च: शहीद भगत सिंह के सपनों का भारत बने

शहीद दिवस पर जिले में हुई कई कार्यक्रम ।

सीतापुर (उत्तर प्रदेश)। 23 मार्च शहीद दिवस के अवसर पर पतंजलि योग समिति, भारत स्वाभिमान, युवा-भारत, महिला पतंजलि योग समिति एव ंपतंजलि किसान सेवा समिति संगठनों द्वारा कार्यक्रम किए गये। जिसके जरिए वक्ताओं ने इस दिवस की महत्ता पर प्रकाश डाला।
आजाद हिंद भगत संगठन द्वारा शहर के भगत सिंह पार्क में शहीद भगत सिंह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन नमन किया। इस मौके पर नगर अध्यक्ष अमन हिंदू के नेतृत्व में सैकड़ों युवकों ने भारत माता की जय, शहीद भगत सिंह अमर रहे, शहीद राजगुरु अमर रहे, शहीद सुखदेव अमर रहे। वंदेमातरम्, भारत माता और देश के लिए जीने और मरने से नारे लगाकर आवश्यकता पड़ने पर अपने जीवन को देश के लिए समर्पित करने का संकल्प लेकर शहीद दिवस मनाया। इस मौके पर आकाश बजरंगी, अभिमन्यु, राजेश, राकेश, दिग्विजय, महेंद्र, हिमांशु, शरद, श्रीधर, आदि मौजूद रहे। सीतापुर युवा फोरस द्वारा आयोजित परिसंवाद में मुख्य वक्ता के.जी. त्रिवेदी ने कहा कि भगत सिंह के नये भारत का सपना मोदी का नया इंडिया कभी नहीं हो सकता। हरीराम जी ने कहा कि नये भारत की असली विरास भगत सिंह का रास्ता है। किसान मंच के जिलाध्यक्ष शिव प्रकाश जी ने कहा कि भगत सिंह के रास्तों पर जिस दिन भारत का किसान मजदूर चलेगा उसी दिन नया भारत बनने का प्रारम्भ हो जायेगा।
 

Advertisement

Latest News