परिणाम घोषित होने पर बोले श्रद्धेय स्वामी जी महाराज, पतंजलि तैयार कर रहा देश का भविष्य

परिणाम घोषित होने पर बोले श्रद्धेय स्वामी जी महाराज, पतंजलि तैयार कर रहा देश का भविष्य

वैदिक शिक्षा : आचार्यकुलम् के दिव्यांशु ने बढ़ाया प्रदेश का मान हरिद्वार(7 मई, 2019)। योगर्षि श्रद्धेय स्वामी रामदेव जी महाराज ने कहा कि पतंजलि योगपीठ को वैदिक शिक्षा बोर्ड बनाने की जो अनुमति मिली है, उस दिशा में अभी बोर्ड का काम आगे बढ़ रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठतम आधुनिक शिक्षा, वैदिक शिक्षा देकर वल्र्ड सिटीजन बनाने की हमारी योजना है। कहा कि हजारों विद्यालयों को भारतीय शिक्षा बोर्ड के माध्यम से जुड़ेगे। आचार्यकुलम् में पत्रकारों से वार्ता करते हुए श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने कहा कि अभी…

वैदिक शिक्षा : आचार्यकुलम् के दिव्यांशु ने बढ़ाया प्रदेश का मान

हरिद्वार(7 मई, 2019)। योगर्षि श्रद्धेय स्वामी रामदेव जी महाराज ने कहा कि पतंजलि योगपीठ को वैदिक शिक्षा बोर्ड बनाने की जो अनुमति मिली है, उस दिशा में अभी बोर्ड का काम आगे बढ़ रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठतम आधुनिक शिक्षा, वैदिक शिक्षा देकर वल्र्ड सिटीजन बनाने की हमारी योजना है। कहा कि हजारों विद्यालयों को भारतीय शिक्षा बोर्ड के माध्यम से जुड़ेगे। आचार्यकुलम् में पत्रकारों से वार्ता करते हुए श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने कहा कि अभी सीबीएससी से एफिलिएशन चल रहा है। आने वाले 10 से 15 वर्षों में पूरा देश देखेगा कि सीबीएसई से भी श्रेष्ठ आदर्शों और मूल्यों के साथ हम एक नये बोर्ड को आगे बढ़ाएंगे।
          वक्त जरूर लगेगा लेकिन आगे सीबीएससी का भी एम्पीटिशन वो भारतीय शिक्षा बोर्ड से होगा। उन्होंने कहा कि आज आचार्यकुलम् में पढ़ने वाले विद्यार्थी कैरियर की दृष्टि, व्यवसाय की दृष्टि व फ्यूचर की दृष्टि से जीवन के किसी भी क्षेत्र में आगे कदम बढ़ा सकते हैं। पतंजलि में कक्षा 10 के बाद और उससे पहले भी तैयार कराते हैं।

  • श्रद्धेय स्वामी जी महाराज बोले- आचार्यकुलम् की शिक्षा ला रही है रंग ।
  • कहा-14 बच्चों ने हासिल किए है 95 फीसदी से ज्यादा अंक ।

श्रद्धेय स्वामी जी महाराज के मार्गदर्शन में देश सेवा करना चाहते है हरिद्वार टाॅपर दिव्यांशु

         आचार्यकुलम् टाॅप करने वाले दिव्यांशु मोहन आर्य का कहना है कि वें एक अच्छा नागरिक बनकर श्रद्धेय स्वामी जी महाराज और पूज्य आचार्य श्री महाराज के मार्गदर्शन में देश की सेवा करना चाहते हैं। फिलहाल उनका लक्ष्य चिकित्सक बनकर इस सेवा कार्य को आगे बढ़ाना है। उन्होंने बताया कि उनके माता-पिता पहले से ही पतंजलि परिवार से जुड़े हुए हैं। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय परिजनों और शिक्षकों के साथ ही सहकर्मियों को भी दिया।

आचार्यकुलम् का अभूतपूर्व CBSE 10वीं का परीक्षा परिणाम
  • कुल 76 विद्यार्थियों का 100% परिणाम
  • एक विद्यार्थी द्वारा 99.4%
  • 13 अन्य विद्यार्थियों ने 95% से अधिक अंक
  • 14 विद्यार्थियों ने 90% – 95%
  • 45 विद्यार्थियों ने 75% – 90%
  • 3 विद्यार्थियों ने 60%- 75% अंक प्राप्त किया।

Related Posts

Advertisement

Latest News