योग शिविर : प्राचीन चिकित्सा पद्धति की प्रमुख विधा है योग

योग शिविर : प्राचीन चिकित्सा पद्धति की प्रमुख विधा है योग

योग शिविर : प्राचीन चिकित्सा पद्धति की प्रमुख विधा है योग हरिद्वार। श्री रामकृष्ण मिशन मठ कनखल एवं पतंजलि योगपीठ के संयुक्त तत्वावधान में छह दिवसीय निःशुल्क योग शिविर का शुरू हुआ। यह योग शिविर 25 से 30 जून तक चलेगा।                योग शिविर का उद्घाटन ऋषिकेश एम्स के निदेशक प्रो.रविकांत, हरिद्वार के अपर जिलाधिकारी डाॅ.ललित नारायण मिश्रा, पतंजलि योगपीठ, भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के मुख्य संयोजक डाॅ. जयदीप आर्य, रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम मठ के सचिव स्वामी नित्य शुद्धानन्द महाराज, डाॅ. चैधरी और शिविर के…

योग शिविर : प्राचीन चिकित्सा पद्धति की प्रमुख विधा है योग

हरिद्वार। श्री रामकृष्ण मिशन मठ कनखल एवं पतंजलि योगपीठ के संयुक्त तत्वावधान में छह दिवसीय निःशुल्क योग शिविर का शुरू हुआ। यह योग शिविर 25 से 30 जून तक चलेगा।

               योग शिविर का उद्घाटन ऋषिकेश एम्स के निदेशक प्रो.रविकांत, हरिद्वार के अपर जिलाधिकारी डाॅ.ललित नारायण मिश्रा, पतंजलि योगपीठ, भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के मुख्य संयोजक डाॅ. जयदीप आर्य, रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम मठ के सचिव स्वामी नित्य शुद्धानन्द महाराज, डाॅ. चैधरी और शिविर के मुख्य संयोजक स्वामी दयाधिपानन्द महाराज (डाॅ.शिव कुमार मकराज) ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर एम्स ऋषिकेश के निर्देशक प्रो.रविकांत ने कहा कि योग मनुष्य को आध्यात्मिक शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रखता है। आधुनिक चिकित्सा विज्ञान और प्राचीन योग पद्धति के साझा अभियान से मनुष्य जल्दी रोग मुक्त हो सकता है। उन्होंने कहा कि रामकृष्ण मिशन मठ एवं चिकित्सालय मानवीय सेवाका प्रमुख केन्द्र है।

              अपर जिलाधिकारी डाॅ. ललित नारायण मिश्रा ने कहा कि मिशन और पतंजलि योगपीठ मनुष्य को रोग मुक्त बनाने के लिए कार्य कर रहे हैं। मिशन के सचिव स्वामी नित्य शुद्धानन्द महाराज ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द ने आधुनिक चिकित्सा पद्धति के साथ प्राचीन भारतीय योग शिक्षा पद्धति के विकास पर भी जोर दिया था। मिशन के वरिष्ठ डाॅ. चैधरी ने कहा कि योग हमारी प्राचीन चिकित्सा पद्धति की एक प्रमुख विधा है। योग शिविर के मुख्य संयोजक स्वामी दयाधिपानन्द महाराज (डाॅ. शिव कुमार मकराज) ने कहा कि रामकृष्ण मिशन मठ और पतंजलि योगपीठ हरिद्वार के सहयोग से लगने वाले छह दिवसीय योग शिविर में विभिन्न बीमारियों का उपचार योग के माध्यम से किया जाएगा। शिविर 30 जून तक प्रातः 5 बजे से साढे सात बजे तक चलेगा। मुख्य वक्ता पतंजलि योगपीठ के डाॅ. जयदीप आर्य जी (मुख्य केन्द्रीय प्रभारी) ने उच्च रक्तचाप, कमर, घुटनों, हाथ पैरों, कंधों के दर्द के निवारण के उपाय योग क्रिया के द्वारा समझाए। शिविर में रामकृष्ण मठ के स्वामी मंजू महाराज, स्वामी अनाद्यानन्द, स्वामी निमाई महाराज, मिशन के अन्य वरिष्ठ संन्यासी, चिकित्सकों आदि ने भाग लिया। -साभारः राष्ट्रीय सहारा’

Related Posts

Advertisement

Latest News