रुचि सोया देश की धरोहर और राष्ट्र निर्माण का मंदिर

रुचि सोया देश की धरोहर और राष्ट्र निर्माण का मंदिर

रुचि सोया देश की धरोहर और राष्ट्र निर्माण का मंदिर रुचि सोया 48 वर्ष पुरानी खाद्य तेल के क्षेत्र में देश की सबसे मजबूत व 100 प्रतिशत स्वदेशी कम्पनी है। 1972 में जनरल फूड्स से प्रारम्भ हुई इस कम्पनी ने 28 हजार करोड़ रुपये तक का सालाना कारोबार किया हुआ है। 22 प्लांटों में 36 लाख टन खाद्य तेल उत्पादन की क्षमता वाली एवं तीन-तीन पीढ़ियों से जुड़ से लगभग 4 हजार मजबूत डिस्ट्रीब्यूटर्स तथा प्रत्यक्ष रूप से लगभग 1 लाख से अधिक किसान परिवारों व लगभग 20 करोड़ उपभोक्ताओं…

रुचि सोया देश की धरोहर और राष्ट्र निर्माण का मंदिर

रुचि सोया 48 वर्ष पुरानी खाद्य तेल के क्षेत्र में देश की सबसे मजबूत व 100 प्रतिशत स्वदेशी कम्पनी है। 1972 में जनरल फूड्स से प्रारम्भ हुई इस कम्पनी ने 28 हजार करोड़ रुपये तक का सालाना कारोबार किया हुआ है। 22 प्लांटों में 36 लाख टन खाद्य तेल उत्पादन की क्षमता वाली एवं तीन-तीन पीढ़ियों से जुड़ से लगभग 4 हजार मजबूत डिस्ट्रीब्यूटर्स तथा प्रत्यक्ष रूप से लगभग 1 लाख से अधिक किसान परिवारों व लगभग 20 करोड़ उपभोक्ताओं का विश्वास अर्जित करने वाली देश की सर्वश्रेष्ठ कम्पनी है।

            रुचि गोल्ड, रुचि स्टार, महाकोष, न्यूट्रिला, सनरिच, सोयस जैसे 6 बड़े ब्रांडों के साथ रुचि सोया एक लिमिटेड कम्पनी है जिसका 90 प्रतिशत शेयर पतंजलि ने लिया है। अब एफएमसीजी मार्केट में रुचि व पतंजलि मिलकर देश के सबसे बड़े ब्रांड बन चुके हैं। आने वाले 5वर्षं में देश को खाद्य तेल उत्पादन में स्वावलम्बी बनाना व लगभग डेढ़ से दो लाख करोड़ रुपये के खाद्य तेल आयात के कारण हर वर्ष जो विदेशी मुद्रा बाहर जाती है उस आर्थिक हानि से देश को बचाना हमारा लक्ष्य है। हम प्रोस्पेरिटी फोर चैरिटी (च्तवेचमतपजल वित ब्ींतपजल) यानी अर्थ से परमार्थ (ट्रस्टीशिप के सिद्धांत) को मानते हैं। इसलिए रुचि सोया मात्र एक कम्पनी नहीं है। यह हमारे लिए देश की धरोहर एवं राष्ट्र निर्माण का मंदिर है। कर्म हमारी पूजा, स्वधर्म, मानवधर्म व राष्ट्रधर्म है। भारत माता हमारी आराध्या है तथा कर्म रूपी सेवा व आराधना से इसे परम वैभवशाली बनाना हमारा ध्येय है।

Related Posts

Advertisement

Latest News