उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023  में प.पूज्य स्वामी जी महाराज का ओजपूर्ण उद्बोधन....

उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023  में प.पूज्य स्वामी जी महाराज का ओजपूर्ण उद्बोधन....

उत्तराखण्ड में औद्योगिक निवेश और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए हाल ही में दो दिवसीय उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया। इस समिट में देशभर से बड़े-बड़े उद्योगपतियों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में पतंजलि के संस्थापक अध्यक्ष योगऋषि परम श्रद्धेय स्वामी रामदेव जी महाराज ने उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 में घोषणा की कि हम पिछले 30 वर्षों से उत्तराखण्ड में सेवा कार्य करते आ रहे हैं। पूज्य स्वामी जी महाराज ने कहा कि पतंजलि निवेश और रोजगार सृजन में अपनी ओर से योगदान दे रही है। उन्होंने कहा कि पतंजलि की ओर से 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। इस निवेश से आने वाले दिनों में 10 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि इस इन्वेस्टर समिट के माध्यम से प्रस्तावित निवेश से हजारों लोगों के लिए रोजगार के नवीन अवसर सृजित होंगे। प.पूज्य स्वामी जी महाराज ने नया भारत बनाने के लिए प्रधानमंत्री की दृढ़ इच्छाशक्ति की सराहना कीं समिट में पूज्य स्वामी जी महाराज ने कहा कि कुछ भारत विरोधी, सनातन विरोधी हैं जो मोदी जी को फूटी आँख नहीं देखना चाहते। लेकिन किसी की परवाह किए बिना विकल्प रहित संकल्प और अखण्ड- प्रचण्ड पुरुषार्थ के साथ वे एक नये भारत का निर्माण कर रहे हैं।
     उन्होंने उत्तराखण्ड के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी जी की प्रशंसा करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड में निवेश के लिए सभी कार्पोरेट्स के लिए सिंगल विण्डो केवल धामी जी हैं। लाॅ एण्ड आॅर्डर की बात हो, पीस के साथ प्रास्पेरिटी के सोपान गढ़ने की बात हो] भ्रष्टाचार मुक्त] अपराध मुक्त] प्रदूषण मुक्त वातावरण की बात हो] यह सब आपको एक साथ उत्तरखण्ड में मिल जाएगा। उत्तराखण्ड में समृद्धि के नये अवसर हैं। वल्र्ड का हैल्थ एण्ड वैलनेस टूरिज्म] वल्र्ड का स्प्रिचुअल डेस्टिनेाशन, हैल्थ और टूरिज्म उत्तराखण्ड में है। यहाँ इंफ्रास्ट्रक्चर] हैल्थ] एजुकेशन] पर्यावरण] एग्रीकल्चर आदि विविध क्षेत्र में अपरिमित संभावनाएं हैं।

3

 समिट में शामिल हुए बड़े-बड़े उद्योगपति : दिसम्बर माह में आयोजित दो दिवसीय समिट में देश के कई शीर्ष उद्योगपति ने हिस्सा लिया] जिनमें अडानी ग्रुप के डाॅयरेक्टर एवं एग्रो व आॅयल एण्ड गैस बिजनेस के हेड प्रणव अडानी] जेएसडब्ल्यू के एमडी सज्जन जिन्दल] आईटीसी के एमडी संजीव पुरी] सीईओ श्री कल्याण चक्रवर्ती] टीवीएस सप्लाई चेन साॅल्यूशंस के चेयरमैन आर दिनेश आदि प्रमुख रहे।
 उत्तराखण्ड राज्य में निवेश का आह्नान : कार्यक्रम में पूज्य स्वामी जी महाराज ने अपने उद्बोधन में प्रधानमंत्री के विकसित भारत के संकल्प पर उपस्थित इन्वेस्टर्स से आह्वान किया कि प्रधानमंत्री के विकसित भारत और देश को ग्लोबल इकोनाॅमिक पाॅवर हाऊस बनाने के संकल्प को मजबूत करें। प.पूज्य स्वामी जी महाराज ने देश को 5 ट्रिलियन डाॅलर की अर्थव्यवस्था बनाने का भी संदर्भ दिया और इस दिशा में पतंजलि के योगदानों की चर्चा की। साथ ही काॅरपोरेट घरानों से उत्तराखण्ड में उद्योग स्थापित करने की अपील की।

Related Posts

Advertisement

Latest News

आयुर्वेद में वर्णित अजीर्ण का स्वरूप, कारण व भेद आयुर्वेद में वर्णित अजीर्ण का स्वरूप, कारण व भेद
स शनैर्हितमादद्यादहितं च शनैस्त्यजेत्।     हितकर पदार्थों को सात्म्य करने के लिए धीरे-धीरे उनका सेवन आरम्भ करना चाहिए तथा अहितकर पदार्थों...
अयोध्या में भगवान श्री रामजी की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव
ऐतिहासिक अवसर : भारतीय संन्यासी की मोम की प्रतिकृति बनेगी मैडम तुसाद की शोभा
पतंजलि योगपीठ में 75वें गणतंत्र दिवस पर ध्वजारोहण कार्यक्रम
भारत में पहली बार पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन में कोविड के नये वैरिएंट आमीक्रोन JN-1 के स्पाइक प्रोटीन पर होगा अनुसंधान
आयुर्वेद अमृत
लिवर रोगों में गिलोय की उपयोगिता को अब यू.के. ने भी माना