पतंजलि योगपीठ परिचय व सेवा प्रकल्प

पतंजलि योगपीठ परिचय व सेवा प्रकल्प

पतंजलि का संकल्प: पतंजलि के लिए देश एक परिवार है जबकि विदेशी कम्पनियों के लिए देश एक बाजार है। पतंजलि की सेवाओं का एकमात्र उद्देश्य मानव सेवा एवं राष्ट्र सेवा है। पतंजलि का संकल्प है कि अपना 100% प्राॅफिट केवल देश] धर्म] वैदिक संस्कृति] गौ-सेवा] शिक्षा की सेवा] प्राकृतिक आपदा] दीन-दुःखी व गरीबों की सेवा] उपकार व परोपकार में ही प्रयोग किया जाता है।

23
 पतंजलि योगपीठ की प्रमुख संस्थाएँ-
  • दिव्य योग मंदिर (ट्रस्ट)
  • पतंजलि योगपीठ (ट्रस्ट)
  • भारत स्वाभिमान (ट्रस्ट)
  • पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन
  • पतंजलि ग्रामोद्योग (ट्रस्ट)
    संकल्पसिद्ध योगी] परम तपस्वी] अखण्ड-प्रचण्ड पुरुषार्थी] परम श्रद्धेय योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज व आयुर्वेद शिरोमणि परम पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी महाराज के मार्गदर्शन में वर्तमान समय में पतंजलि योगपीठ योग, आयुर्वेद, स्वदेशी, गुरुकुलीय शिक्षा, शिक्षा का भारतीयकरण, स्वदेशी से स्वावलंबी भारत बनाना, योग- आयुर्वेद पर रिसर्च पेपर पब्लिश करना] पतंजलि विश्वविद्यालय, पतंजलि आयुर्वेद महाविद्यालय, पतंजलि योग, आयुर्वेद व नेचुरोपैथी पर अनुसंधान, भारतीय नस्ल की देसी गायों के संरक्षण व संवर्धन का कार्य, जैविक खेती पर अनुसंधान एवं प्रशिक्षण, आपदा राहत सेवा, एक लाख से अधिक योग कक्षाओं का संचालन, प्रतिवर्ष लाखों रोगियों को निःशुल्क आयुर्वेद का परामर्श, दिव्य फार्मेसी व पतंजलि आयुर्वेद के माध्यम से उच्च गुणवत्तायुक्त, आयुर्वेदिक, हर्बल उत्पादों का निर्माण कार्य] देश व दुनियां में करोड़ों लोगों को योग प्रशिक्षण, आपदा प्रबंधन में सेवा कार्य, सभी सामाजिक कार्यों जैसे- रक्तदान] देहदान, रोगियों की सेवा, अनाथ व निर्धन कन्याओं का विवाह आदि से लेकर निःशुल्क धर्मशाला का संचालन व निःशुल्क भोजन वितरण से लेकर सभी प्रकार की मानव सेवा से लेकर राष्ट्र सेवा में पतंजलि अग्रणी भूमिका निभाता है।

 पतंजलि शिक्षण संस्थान-

    प्राचीन भारतीय सनातन वैदिक शिक्षा के साथ-साथ आधुनिक शिक्षा का समन्वय सभी निम्न संस्थानों में ।
  •  पतंजलि ग्लोबल गुरुकुलम्
  •  पतंजलि ग्लोबल विश्वविद्यालय
  • आचार्यकुलम्
  • भारतीय शिक्षा बोर्ड
  • पतंजलि आयुर्वेद काॅलेज

 पतंजलि चिकित्सा संस्थान-

    सभी साध्य-असाध्य रोगों का योग, आयुर्वेद, पंचकर्म आदि पारम्परिक चिकित्सा पद्धतियों से इंटिग्रेटिड चिकित्सा की विश्वस्तरीय व्यवस्थाएँ।
  • पतंजलि वैलनेस
  • पतंजलि योगग्राम
  • पतंजलि निरामयम्
  • पतंजलि आयुर्वेद हाॅस्पिटल
  • पतंजलि चिकित्सालय एवं आरोग्य केन्द्र

  पतंजलि अनुसंधान-

   योग, आयुर्वेद के क्षेत्र में 500 करोड़ से अधिक की लागत से तैयार रिसर्च इंस्टीट्यूट में 500 से अधिक वैज्ञानिकों द्वारा पतंजलि में 3000 से अधिक रिसर्च प्रोटोकोल्स व 500 से अधिक रिसर्च पेपर्स विश्वस्तरीय रिसर्च जर्नल्स में प्रकाशित किए गए हैं।

24

  • पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट
  • पतंजलि रिसर्च फाउण्डेशन
  • पतंजलि आर्गेनिक रिसर्च इंस्टीट्यूट

 पतंजलि योगपीठ संगठन-

            स्वस्थ, समृद्ध, संस्कारवान, नशामुक्त एवं परम वैभवशाली भारत बनाने के लिए राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न संगठन एक लाख से अधिक निःशुल्क योग कक्षाओं के साथ लाखों योग शिक्षक] 600 से अधिक जिलों, 5000 से अधिक तहसीलों तथा 2 लाख से अधिक गांवों में राष्ट्र सेवा से मानव सेवा का विराट कार्य कर रहे हैं।
  • भारत स्वाभिमान
  • महिला पतंजलि योग समिति
  • पतंजलि योग समिति    
  • युवा भारत
  • पतंजलि किसान सेवा समिति    
  • हाम्रो स्वाभिमान सोशल मीडिया संगठन
Presentation1
 पतंजलि योगपीठ की अन्य सेवाएँ-
  • पतंजलि संन्यास आश्रम
  • महर्षि वाल्मीकि आश्रम (निःशुल्क धर्मशाला) एवं संत रविदास लंगर
  • निःशुल्क चिकित्सा एवं औषधि सेवा
  • निःशुल्क योग विज्ञान शिविर
  • योग, आयुर्वेद का प्रशिक्षण एवं प्रसारण
  • वल्र्ड हर्बल इन्साइक्लोपीडिया
  • योग संदेश मासिक पत्रिका
  • स्वदेश स्वाभिमान समाचार-पत्र
 पतंजलि ग्रामोद्योग, गौशाला- गौ संरक्षण एवं नस्ल सुधार हेतु संवर्धन केन्द्र
आस्था, संस्कार, वैदिक आदि इलेक्ट्राॅनिक मीडिया से राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय प्रचार पतंजलि के सोशल मीडिया प्लेटफार्म से योग] आयुर्वेद एवं भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार हेतु 5 करोड़ से अधिक लोग जुड़े हुए हैं।
नशा मुक्ति, स्वच्छता सेवा, रक्तदान] गरीब कन्या विवाह] जड़ी-बूटी एवं जैविक खेती प्रशिक्षण, वृक्षारोपण आदि सेवा कार्य।
बिहार] असम में बाढ़ राहत सेवा, 2004 सुनामी, केदारनाथ आपदा, नेपाल भूकम्प आपदा आदि में सेवा कार्य।
 समृध एवं स्वावलंबी भारत बनाने के लिए पतंजलि के विभिन्न स्वदेशी प्रकल्प-
पतंजलि योगपीठ द्वारा 5 लाख से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से विभिन्न योग, उद्योग, खेती, जड़ी-बूटी संग्रह, डिस्ट्रीब्यूशन, सेल्स, प्रोफेशनल योग शिक्षक, स्वास्थ्य के क्षेत्र में रोजगार के अवसर देकर आत्मनिर्भर बनाया है।
  • पतंजलि फूड्स  
  • पतंजलि आयुर्वेद
  • दिव्य फार्मेसी   
  • पतंजलि डेयरी
  • दिव्य प्रकाशन  
  • पतंजलि परिधान
  • पतंजलि दिव्य जल     
  • पतंजलि सोलर
  • स्वदेशी समृद्धि कार्ड     
  • आर्डर-मी ऐप
   परम श्रद्धेय स्वामी जी महाराज ने 400 से अधिक जिलों में तथा 2 हजार से अधिक तहसीलों में 20 लाख किलो मीटर से अधिक की यात्रा करके प्रत्यक्ष रूप से 10 करोड़ से अधिक तथा परोक्ष रूप से देश व दुनिया के 200 करोड़ से अधिक लोगों तक योग पहुँचाया है।
  वर्ष 2016 में आयोजित फरीदाबाद, हरियाणा में 3 लाख से अधिक संख्या के साथ योग शिविर आयोजित कर योग दिवस मनाया गया।
   वर्ष 2017 में अहमदाबाद गुजरात में 4-30 लाख से अधिक लोगों की भागीदारी के साथ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।
वर्ष 2018 में कोटा राजस्थान में 2 लाख से अधिक योग साधकों के साथ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।
दुर्ग] छत्तीसगढ़ में एक साथ 1]20]000 युवाओं द्वारा सूर्य नमस्कार का वल्र्ड रिकाॅर्ड बनाया गया।
पतंजलि योगपीठ] हरिद्वार द्वारा योग के क्षेत्र में तीन गिनीज बुक वल्र्ड रिकाॅर्ड व अन्य 50 से अधिक वल्र्ड रिकार्डस बनाए गए हैं।

 अंतर्राष्ट्रीय संस्थान-

       पूज्य श्रद्धेय योगऋषि स्वामी रामदेव जी महाराज ने 35 से अधिक देशों में स्वयं जाकर तथा परोक्ष रूप से पूरी दुनियां में योग का प्रचार किया है।

29

 अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रचार- प्रसार व क्रियान्वयन के लिए पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट यू.के.] पतंजलि योग फाउंडेशन ट्रस्ट, यू.एस.ए.] पतंजलि योग ट्रस्ट कनाडा] पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट काठमांडू] नेपाल आदि के साथ-साथ अन्य कई देशों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योग आयुर्वेद एवं भारतीय सनातन संस्कृति के प्रचार-प्रसार का विराट कार्य हो रहा है।
 30
पतंजलि के सनातन धर्म व राष्ट्रधर्म  की सेवा के इस ऐतिहासिक आंदोलन के लिए  आप क्या कर सकते हैं?
     विकल्प रहित संकल्प एवं अखंड-प्रचंड पुरुषार्थ से योगऋषि पूज्य श्रद्धेय स्वामी जी व आयुर्वेद शिरोमणि पूज्य आचार्यश्री ने 30 वर्ष में 100 करोड़ से अधिक भारतवासियों व दुनिया के 200 करोड़ लोगों को योग धर्म एवं सनातन धर्म से जोड़ा है। 18-18 घंटे प्रतिदिन पुरुषार्थ करके प्रातः 330 से रात्रि 10 बजे तक बिना किसी छुट्टी के 365 दिन सेवा करते हैं। एक ही संकल्प है कि भारत पुनः ऋषियों का, कर्मयोगियों का देश बने। योग, आयुर्वेद व स्वदेशी के आंदोलन के साथ-साथ भारतीय शिक्षा एवं भारतीय चिकित्सा व्यवस्था के साथ सनातन धर्म की देश व दुनिया में प्रतिष्ठा हो।
1-   योग करें व कराएँ तथा पतंजलि के स्वदेशी, सात्विक प्रोडक्ट्स को 100% अपनाने का संकल्प लेकर देश को आर्थिक, वैचारिक, सांस्कृतिक लूट व गुलामी से बचाने में एक बड़ी भूमिका निभायें।
2-  दवा माफिया, नशा माफिया, जंक फूड माफिया, विलासिता-ग्लैमर माफिया व मजहबी माफियाओं से देश को बचाने हेतु श्रेष्ठ व्यक्तित्व] चरित्र व नेतृत्व निर्माण हेतु पतंजलि गुरुकुलम् में अपनी मेधावी श्रेष्ठ सन्तानों को पढ़ाकर अपने कुल] वंश व राष्ट्र का गौरव बढ़ाने वाले महान नागरिक तैयार करने के लिए आगे आयें।
3-   लिवर, किडनी] हार्ट, अर्थराइटिस] मोटापा] बी.पी., शुगर, थाॅयराइड आदि असाध्य रोगों से पीडि़त रोगियों को व अपने परिवार जनों को पतंजलि वैलनेस व योगग्राम में एक सप्ताह हेतु पंचकर्म, षट्कर्म व योगायुर्वेद, नेचुरोपैथी के इंटिग्रेटिड ट्रीटमेंट के लिए भेजें।
4-   जिस जिले] तहसील व क्षेत्र में पतंजलि के सेंटर नहीं हैं वहाँ पर पतंजलि मेगा स्टोर] पतंजलि चिकित्सालय] पतंजलि आरोग्य केन्द्र] पतंजलि ग्रामीण आरोग्य केन्द्र खोलने व पतंजलि की सेवाओं को आगे बढ़ाने के लिए आगे आयें। सम्पर्क सूत्र: 8954111333           
5-  पतंजलि योग समिति] महिला पतंजलि योग समिति] भारत स्वाभिमान] युवा भारत] पतंजलि किसान सेवा समिति एवं हाम्रो स्वाभिमान के लाखों कार्यकर्ता एवं हमारे लाखों सोशल योगी देशभर में योग की लाखों निःशुल्क कक्षाएँ चलाकर करोड़ों लोगों की निष्काम सेवा करके उनके जीवन को रोगमुक्त एवं सनातन धर्म से युक्त बनाकर उनकी सेवा में योगदान दे रहे हैं। 
6-  आप सभी देशवासियों के आशीर्वाद से पतंजलि योगपीठ आज योग] आयुर्वेद] स्वदेशी] भारतीय शिक्षा व्यवस्था] भारतीय चिकित्सा व्यवस्था एवं सनातन धर्म की सेवा की विश्व की सबसे बड़ी संस्था एवं संगठन के रूप में राष्ट्र और विश्वव्यापी ईश्वरीय कार्य में लगा हुआ है। हम आपके निरंतर आशीर्वाद और सहयोग की अपेक्षा करते हैं।
7-  व्यक्ति निर्माण, चरित्र निर्माण और नए युग के निर्माण के इस शताब्दी के महान सेवा यज्ञ में आहुति देने व सदस्य (लाइफ] पैट्रन, फाउण्डर व काॅर्पोरेट मैम्बर) बनने के लिए 8454555999  पर संपर्क करें।
8-   1991 पतंजलि योगपीठ की सेवाओं से जुडने के लिए हम आपको आमंत्रित करते हैं। पतंजलि योगपीठ, योगग्राम, निरामयम व वैलनेस में रजिस्ट्रेशन आदि के लिए- 8954666111, 89546663338954666333 पर संपर्क करें। पंतजलि गुरुकुलम्, आचार्यकुलम्, विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए 8954555999 पर संपर्क करें। 

Related Posts

Advertisement

Latest News